कलम का तिलक,फतेहाबाद, 22 सितम्बर। पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग ने जिलावासियों से गौशालाओं व नंदीशालाओं के लिए सहयोग की अपील की है। विभाग के उप निदेशक डॉ. काशी राम ने बताया कि अभी तक व्यापक जनसहभागिता से जिला को बेसहारा पशु मुक्त घोषित किया गया है। जिला के लिए इस दर्जे को बरकरार रखना एक बड़ी चुनौती है, जिसके लिए जनसहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने सभी ग्राम पंचायतों, सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं तथा जन प्रतिनिधियों से अपील की है कि जिस भी पंचायत या नगरपरिषद को कोई आवारा पशु जिला में घुमता हुआ दिखाई देता है तो वे उन्हें संबंधित क्षेत्र की गौशाला, नंदीशाला या बाड़े तक छोडऩे में विभाग का सहयोग करे।
इसके अलावा उन्होंने समाज के प्रबुद्धजनों, सामाजिक-धार्मिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों व दानी सज्जनों से यह भी अपील की है कि वे इन नंदीशालाओं, गौशालाओं व पशु बाड़ों में चारे के लिए जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा योगदान दे। उन्होंने कहा कि आवारा पशुओं को नंदीशाला, गौशालाओं व पशु बाड़ों में छोडऩे में किसी तरह की कोई दिक्कत या परेशानी आती है तो वे उपायुक्त कार्यालय, अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग और कार्यकारी अधिकारी व सचिव नगर परिषद फतेहाबाद के कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं।