कलम का तिलक,फतेहाबाद, 9 अक्तूबर।हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने कहा है कि फतेहाबादवासियों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने के लिए जल्द ही पर्याप्त चिकित्सकों की नियुक्ति की जाएगी। उन्होंने कहा कि जिला में कोई पीएचसी ऐसी नहीं रहेगी, जहां चिकित्सक उपलब्ध न हो। वे सोमवार को लोक संपर्क एवं जन परिवाद समिति की बैठक के उपरान्त पत्रकारों द्वारा पूछे गए सवालों के उत्तर दे रहे थे। राज्य मंत्री बेदी ने कहा कि इस संबंध में उनकी स्वास्थ्य विभाग के निदेशक से भी बात हो गई है। उन्होंने सिविल सर्जन फतेहाबाद को निर्देश दिए कि मौसमी बिमारियों के फैलने के मद्देनजर नागरिक हस्पताल में रविवार के दिन भी लैबोरट्री खुली रहेगी और विभिन्न टेस्ट करने वाले कर्मचारी उपस्थित रहेंगे। रतिया में हेपेटाईटिस-सी फैलने के संबंध में पूछे गए एक प्रश्र के उत्तर में उन्होंने कहा कि रतिया में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार और बेहतरी के लिए विभाग के आलाधिकारियों से बात की गई है। जल्द ही यहां भी हेपेटाईटिस-सी जैसी बिमारियों से निपटने के लिए ठोस कदम उठाए जाएंगे।
राज्य मंत्री बेदी ने कहा कि हरियाणा में सम्मान भत्ता पेंशन के कार्य में वास्तविक लाभार्थियों को अविलंब लाभ देने के उद्देश्य से हरियाणा सरकार ने महज 14 महीनों में लगभग 24 लाख लाभार्थियों के बैंक खातों को आधार से लिंक किया है। इसके लिए सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग को राष्ट्रीय स्तर पर पुरस्कार भी दिया गया है। उन्होंने कहा कि सभी बैंक खातों को वेरिफाई करने के लिए 31 अक्तूबर तक का समय निर्धारित किया गया है, लेकिन यदि फिर भी कोई लाभार्थी वंचित रह जाता है तो अंतिम तिथि को बढ़ाया जाएगा। राज्य मंत्री बेदी ने कहा कि बैंक खातों के वेरिफाई होने के बाद लाभार्थियों का पिछले महीनों का एरियर भी उनके बैंक खातों में दिया जाएगा। उन्होंने आगामी 1 जनवरी के बाद लाभार्थियों को 1800 रुपये पेंशन दी जाएगी। राज्य मंत्री ने कहा कि हम सभी धन्य है कि हमें प्रधानमंत्री के रूप में नरेन्द्र मोदी तथा मुख्यमंत्री के रूप में मनोहर लाल जैसे ईमानदार मुख्यमंत्री मिले हैं, जिन्होंने पूर्ण पारदर्शिता से कार्य करने का संकल्प लिया है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने सरकारी नौकरियों में इंटरव्यू को खत्म करके मैरिट के आधार पर नौकरियां उपलब्ध करवाई है।
किसान हित में लिए गए फैसलों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि किसानों को सरकार की योजनाओं के फलस्वरूप ही धान व अन्य फसलों के रिकॉर्ड दाम मिल रहे हैं। फतेहाबाद के लिए गए निर्णयों का उल्लेख करते हुए राज्य मंत्री ने कहा कि पूर्व की सभी सरकारे भूना शुगर मील पर कोई ठोस निर्णय लेने में असफल रही थी जबकि वर्तमान सरकार ने इस मील के कर्मचारियों को री-एम्पलोयमेंट प्रदान करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया है। इसके अतिरिक्त फतेहाबाद के भूना व रतिया में नये कॉलेजों की स्थापना की गई है। फतेहाबाद के सभी विधान सभा क्षेत्रों का चहुंमुखी विकास करवाया जा रहा है और विपक्षी दलों के विधायक वाले हलकों में भी करोड़ों रुपये की ग्रांट दी जा रही है। इसके उपरान्त राज्य मंत्री बेदी ने किसानों के एक प्रतिनिधि मंडल से भी मुलाकात की और उनकी समस्याओं को ध्यानपूर्वक सुना। किसानों ने पराली को लेकर अपनी समस्या रखी जिस पर राज्य मंत्री ने इस दिशा में सरकार से बात करके इस मामले का जल्द ही कोई ठोस निकालने का आश्वासन दिया।