ककम का तिलक,फतेहाबाद, 9 अक्तूबर। हरियाणा के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने कहा है कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार ने सर्वसमाज को जोडऩे के लिए अनेक महत्वपूर्ण निर्णय किए है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने वंचित वर्गों की भलाई के लिए अनेक नई योजनाएं लागू की है और पूर्व में चल रही योजनाओं का विस्तार किया है। अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति, टपरीवास जाति के गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को उनकी लड़की की शादी पर दी जाने वाली 41 हजार की वित्तीय सहायता की वार्षिक आय सीमा एक लाख रुपये से बढ़ा कर अढाई लाख रुपये करने की घोषणा मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा की जा चुकी है। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने सभी वर्गों की विधवाओं, तलाकशुदा,निराश्रित महिलाओं की लड़कियों की शादी पर दी जाने वाली 51 हजार की वित्तीय सहायता की वार्षिक आय सीमा भी एक लाख रुपये से बढ़ाकर अढाई लाख रुपये करने की भी घोषणा की गई है। इतना ही नहीं इस राशि को लड़कियों की शादी से 21 दिन पहले लाभार्थियों को दिया जाता है। इसके अलावा सरकार ने हरियाणा में शीघ्र ही सफाई कर्मचारी आयोग का गठन करने का भी निर्णय किया है। आयोग के गठन के उपरांत सफाई कर्मचारियों को अपनी बात रखने के लिए जगह-जगह नहीं भटकना पड़ेगा तथा वे सीधे आयोग के समक्ष जाकर अपनी बात रख सकेंगे।
राज्यमंत्री ने कहा कि आदि कवि महर्षि वाल्मिकी जैसे महापुरुषों ने सैंकड़ों वर्षों पूर्व देश व समाज को उन्नत बनाने के लिए जातिवाद से ऊपर उठ कर एक सूत्र में पिरोने की शिक्षा दी थी और युवा पीढ़ी को उनके प्रशस्त मार्ग का अनुसरण करना चाहिए तभी हम देश की एकता व अखंडता को सुदृढ कर सकते हैं। राज्यमंत्री ने उपस्थित लोगों से सरकार द्वारा अनुसूचित जातियों वे पिछड़ा वर्ग के कल्याण के लिए चलाई जा रही स्कीमों का लाभ उठाने का आहवान किया। उन्होंने उपस्थित नौजवानों से आह्वान करते हुए कहा कि वे महानपुरूषों और विभूतियों के दिखाए मार्ग पर चलकर राष्ट्र व समाज के नव निर्माण में अह्म योगदान दे। उन्होंने बताया कि महर्षि वाल्मीकि को प्राचीन वैदिक काल के महान ऋषियों कि श्रेणी में प्रमुख स्थान प्राप्त है। वह संस्कृत भाषा के आदि कवि और रामायण के रचयिता के रूप में प्रसिद्ध हैं। कार्यक्रम के दौरान एक प्रतिभागी द्वारा भगवान वाल्मीकि के जीवन के बारे में बताई गई बातों की त्रुटियों को दूर करते हुए राज्य मंत्री बेदी ने कहा कि इस प्रकार की त्रुटियां सोशल मीडिया/विकीपीडिया पर बिना शोध के डाली गई जानकारी के चलते पैदा होती है। उन्होंने समारोह के दौरान ही गूगल के सीईओ को इस प्रकार की अव्यवहारिक जानकारियों को तुंरत हटाने के लिए पत्र लिखने के निर्देश दिए। इसके पश्चात गूगल सीईओ को त्रुटियां हटाने के संबंध में पत्र लिख दिया गया। इस अवसर पर राज्य मंत्री बेदी ने भगवान वाल्मीकि के जीवन पर प्रकाश डालने वाली छात्रा को बुलाकर उन्हें मिठाई खिलाई और ईनाम भी दिया।
समारोह को संबोधित करते हुए जिला उपायुक्त डॉ. हरदीप सिंह ने कहा कि महर्षि वाल्मीकि सृष्टि के पहले कवि थे। इसलिए उन्हें आदि कवि भी कहा जाता है। उन्होंने रामायण जैसे पवित्र ग्रंथ की रचना की, जिसके पात्र आज भी हम आदर्श के रूप में पूजे जाते हैं। यह संस्कृति हमें आदि कवि महर्षि वाल्मीकी जी से मिली है, जिन्होंने रामायण नाम के ऐसे भव्य महाकाव्य की रचना की थी, जिसमेें कही गई बातें आज भी हमारे समाज में प्रेरणा स्रोत हैं। महापुरूषों की जयंती सरकारी स्तर पर मनाने से समाज को एक नई दिशा मिली है। महर्षि वाल्मीकि द्वारा रचित रामायण हमारी संस्कृति को एक प्रेरक स्रोत है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार द्वारा लागू की गई मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना, सिलाई प्रशिक्षण योजना, मुख्यमंत्री सामाजिक समरस्ता योजना, अंतर्जातीय विवाह शगुन योजना, पोस्ट मैट्रिक छात्रवृति योजना व डॉ. अंबेडकर मेधावी छात्रवृति आदि योजनाओं का लाभ हर पात्र व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए प्रशासन कटिबद्ध है। उपायुक्त ने लोगों से भी इन योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ उठाने की अपील की। इससे पूर्व अतिरिक्त उपायुक्त डॉ. जेके आभीर ने महर्षि वाल्मीकि प्रकट दिवस पर फतेहाबाद पहुंचने के लिए राज्यमंत्री कृष्ण कुमार बेदी का आभार जताया और उनका स्वागत किया। अपने संबोधन में डॉ. आभीर ने महर्षि वाल्मीकि के जीवन और उनकी शिक्षाओं पर प्रकाश डाला। समारोह को एडवोकेट जनक अटवाल सहित अन्य प्रबुद्धजनों ने भी संबोधित किया।
इस मौके पर जिला विकास निगरानी समिति के सदस्य एवं भाजपा जिलाध्यक्ष वेद फुलां ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी सरकार दलितों, समाज के गरीब वर्गों, किसान-मजदूर तथा आमजन-मानस के हितों की रक्षा करना और उनके भविष्य उज्ज्वल के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के ओजस्वी एवं कुशल नेतृत्व में देश व प्रदेश दिन-दौगुनी रात-चौगुनी उन्नती कर रहा है। आमजन मानस को सरकार द्वारा लागू की गई जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। उन्होंने कहा कि सबका साथ-सबका विकास की पद्धति पर हमारी सरकार कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि समाज कल्याण, स्वास्थ्य सेवाओं के सुदृढ़ीकरण, कमजोर व पिछड़े वर्गों का सामाजिक आर्थिक एवं शैक्षणिक उत्थान, आधारभूत संरचना को मजबूत एवं आधुनिक बनाने, बिजली आपूर्ति एवं गुणवत्ता में सुधार लाने जैसे कई प्रभावी कदम उठाए है। कार्यक्रम में राज्य मंत्री का जोरदार स्वागत किया गया और उन्हें शॉल व स्मृति चिह्न भेंट कर उनका सम्मान किया गया। इस अवसर पर
इस मौके पर राज्य मंत्री कृष्ण कुमार बेदी ने विपरित परिस्थितियों में उच्च शिक्षा ग्रहण कर प्रसिद्धी पाने वाली वाल्मीकि समाज की हौनहार छात्राओं को भी प्रशंसा देकर सम्मानित किया।